Bewafa Shayari

Shayari on Bewafai, Tadapta hu is kadar bewafai me

dard bhari bewafa shayari for sad lovers
क्या बताऊँ!! मेरा हाल कैसा है,
एक दिन गुज़रता है एक साल जैसा है,
तड़पता हूँ इस कदर बेवफाई में उसकी,
ये तन बनता जा रहा कंकाल जैसा है।

dard bhari bewafa shayari for sad lovers

Kya Bataun!! Mera Haal Kaisa Hai,
Ek Din Gujarta Hai Ek Saal Jaisa Hai,
Tadapta Hu Is Kadar Bewafai Me Uski,
Ye Tan Banta Ja Raha Kankaal Jaisa Hai.

अपनापन सिखा के- जुदा हो गए,
न सोचा न समझा खफा हो गए,
दुनिया में एकबार हमने किसी को अपना कहा था,
वो भी लोगो की बातों में आकर बेवफा हो गए…!

Apnapan sikha ke- juda ho gaye,
Na socha Na samjha khafa ho gaye,
Duniya me ekbar humne kisi ko apna kaha tha,
wo bhi logo ki bato me akar bewafa ho Gaye…!

वक़्त# की आंधी मुझे तुमसे दूर करदेगी,
तुम तो जी लोगे मेरे बिन- किसी और के सहारे,
और ज़िंदगी मुझे जीते जी मरने को मजबूर करदेगी.

Waqt# ki andhai mujhe tumse door kardegi,
tum to jee loge mere bin- kisi aur ke sahare,
aur zindagi mujhe jeete ji marne ko majboor kardegi.

Back to top button